मृतक का फाइल चित्र।

फरीदा गांव में हुए कथित एनकाउंटर में मारे गए पुष्पेंद्र यादव के पक्ष में यूपी के विभिन्न जिलों से विरोध के स्वर और न्याय की मांग उठ रही है फर्रुखाबाद के हरगोविंद सिंह यादव टीम सचिन ने एनकाउंटर पर सवाल उठाते हुए कहा है की यह एक सोची-समझी हक है हत्या है अन्यथा पुष्पेंद्र यादव का कोई भी आपराधिक इतिहास नहीं रहा है वही आधी रात के समय मृतक का जबरन अंतिम संस्कार करना किसी भी प्रकार से उचित नहीं है और पुलिस की कार्यवाही पर सवाल उठाती है उन्होंने कहा कि हम पुष्पेंद्र यादव को न्याय दिलाने के लिए लंबी लड़ाई लड़ेंगे।

“पुष्पेंद्र यादव का रात 12 बजे जबरदस्ती दाह संस्कार करना कहाँ का मानवाधिकार है! और हिन्दू धर्म के किस ग्रंथ में लिखा है! हजारो मानवाधिकार संगठन जो पद बांटते हैं! धर्म के ठेकेदार जो शास्त्रों की बात करते हैं!महंत मठ वाले सब कहाँ हैं! आतंकवादियों को भी इस देश मे कोर्ट ट्रायल मिलता है! रेप और मर्डर करने वाले नेता मंत्री को भी वकील और न्यायालय मिलता है! कैसा मानवाधिकार है ये पुष्पेंद्र सही थे या गलत ये मामला अलग है! पर मानवाधिकार और धर्म कहाँ है! आज के बाद मानवाधिकार की कोई सीख मत देना समय बदलेगा इंसानियत आज खत्म हो चुकी है!”- हरगोविंद यादव फर्रुखाबाद

क्या कहना है इस एनकाउंटर पर एसएसपी डॉक्टर ओपी सिंह का-

एसएसपी डॉ.ओपी सिंह के अनुसार  गुरसराय क्षेत्र में रात करीब 2.30 बजे फरीदा गांव के पास सड़क पर कार आती दिखी। पुलिस ने कार  को रोकने का प्रयास किया। इस दौरान कार सवारों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। जवाब में पुलिस ने भी गोली चलाई, जो पुष्पेंद्र के सिर में जा लगी। मौका पाकर दोनों साथी भाग निकले। पुलिस टीम पुष्पेंद्र को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंची, जहां उसे मृत घोषित कर दिया था। 

राज्यसभा सांसद डॉ. चंद्रपाल सिंह यादव ने मुठभेड़ पर सवाल उठाते हुए पुलिस पर हत्या की रिपोर्ट दर्ज किए जाने की मांग की है। वहीं, सपा कार्यकर्ताओं व परिजनों ने पुलिस पर कार्रवाई की मांग को लेकर मेडिकल कॉलेज के सामने शव रखकर प्रदर्शन भी किया।

पुष्पेंद्र के परिजनों से मिलने आज आएंगे अखिलेश यादव 

पुष्पेंद्र यादव के एनकाउंटर पर राजनीति गरमा गई है। विपक्षी दल पुलिस को घेरने की कोशिशों में जुट गए हैं। बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मृतक के गांव जाकर परिजनों से मिलेंगे। बसपा और कांग्रेस की भी प्रतिक्रिया आई है। 

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव बुधवार को मृतक के गांव करगुवां खुर्द पहुंचेंगे। हालांकि, उनके आने का समय तय नहीं है। जबकि, प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव आदित्य यादव दोपहर बारह बजे करगुवां खुर्द पहुंचकर पुष्पेंद्र यादव के परिजनों से मुलाकात करेंगे। पूर्व केंद्रीय मंत्री व कांग्रेस नेता प्रदीप जैन भी मंगलवार को मृतक के गांव जाएंगे।

वहीं, बसपा की बैठक में मुख्य जोन इंचार्ज तिलक चंद्र अहिरवार ने कहा कि पुष्पेंद्र यादव मुठभेड़ कांड की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। लालाराम अहिरवार ने कहा कि पुष्पेंद्र का कोई आपराधिक इतिहास नहीं था। इस मौके पर मुख्य जोन इंचार्ज पवन चौधरी, पूर्व मंत्री रतनलाल अहिरवार, पूर्व विधायक कृष्णपाल सिंह राजपूत, कैलाश साहू आदि मौजूद रहे। अध्यक्षता जिलाध्यक्ष रामबाबू चिरगइयां ने की। उधर, इस मामले में कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल सोमवार को डीआईजी से मिला और आंदोलन की चेतावनी देते हुए एनकाउंटर की सीबीआई जांच की मांग की।

Share this: