शैलेन्द्र चौधरी

विवाहिता बहन को लेकर काफी समय से परेशान महिला सोशल वर्कर… बाइक दुर्घटना में जीजा के साथ जा रही बहन हो गई थी चोटिल ..जिसके सर में अंदरूनी चोट आ जाने के कारण चली गई कोमा में… करीब 10 वर्ष पहले माता-पिता ने किया था विवाह अपने पति के साथ सितारगंज स्थित क्रोकरी की कंपनी में कर रही थी काम… स्थानीय जिला अस्पताल इमरजेंसी में भर्ती महिला सोशल वर्कर की बहन फरहा पत्नी आमिल हुसैन करीब महीने भर से ज्यादा समय से है कोमा में 24 दिन तक स्थानीय खुश्लोक हॉस्पिटल में रही भर्ती सर का हुआ था ऑपरेशन लाखों रुपया हुआ खर्च फिर भी बहन की हालत में कोई भी सुधार नहीं महिला जनकल्याण सोसाइटी की सोशल वर्कर रीना खान ने बताया कि बहनोई का व्यवहार भी हमारी बहन के प्रति अच्छा नहीं था जबरन उससे करवा रहे थे कंपनी में नौकरी जबकि घर में दो छोटे-छोटे छोटे बच्चों को देखने की भी थी जिम्मेदारी.. मोहल्ला थाना बारादरी निवासी सोशल वर्कर रीना खान ने बताया कि गत 27 अगस्त 2019 को गड्ढे में बाइक जाने पर दुर्घटना में बहन को घायल होना बता रहे हैं बहनोई जबकि उनके एक खरोच तक नहीं आई और बहन की हालत कोमा में जाने के कारण अत्यंत नाजुक बनी हुई है हम लोगों ने मिलकर बहुत पैसा खर्च किया लेकिन बहन की हालत में कोई भी सुधार नहीं हुआ बेड पर पड़े पड़े उसके बेड सोल भी हो गए हैं जब निजी अस्पतालों में इलाज करवाने की आर्थिक क्षमता खत्म हो गई तब स्थानीय जिला अस्पताल बरेली में लाकर भर्ती करवा दिया लेकिन उनके बहनोई द्वारा बताएं जा रहे दुर्घटना क्रम के विषय में समझ में नहीं आ रहा है जब तक कि हम खुद जाकर इस मामले में बिल्कुल सही जानकारी न कर लें क्योंकि दुर्घटना वाले दिन से ही बहन की हालत अत्यधिक गंभीर बनी हुई है जिसके चलते हम उन्हें लखनऊ भी लेकर गए फिर भी कोई विशेष फायदा ना हुआ करीब 27 वर्षीय फरहा कोमा में है व उसके दो नादान बच्चे अपनी नानी के घर रुके हुए हैं जिन्हें यह पता ही नहीं कि मां की हालत नाजुक है और डॉक्टरों ने जवाब दे दिया है

Share this: