कार्यालय बरेली.. एक दो कमरों में बैठे चार छह कर्मचारी कभी सुबह से लेकर शाम तक भीड़भाड़ से गुलजार रहने वाला महानगर बरेली का सेवायोजन कार्यालय employment exchange अब मात्र एक इमारत बन कर रह गया है स्थानीय सेवायोजन कार्यालय भवन में अन्य विभागों के भी कार्यालय खोल दिए गए हैं रोजगार के लिए जब से सारी व्यवस्थाएं ऑनलाइन शुरू हुई तब से शिक्षित बेरोजगारों के रजिस्ट्रेशन व नौकरियों को आवेदन सारी व्यवस्थाएं ऑनलाइन ही पूर्ण हो जाती हैं जिस कारण सेवायोजन कार्यालय में किसी भी व्यक्ति को आने की आवश्यकता ही नहीं पड़ती और समय का सदुपयोग भी हो जाता है स्थानीय सहायक सेवायोजन अधिकारी कमिश्नर बरेली की मीटिंग में गए हुए थे तब कार्यालय में शाहजहांपुर के सेवायोजन अधिकारी से मुलाकात हो गई उन्होंने बताया कि काम का भार तो उतना ही है लेकिन मैन्युअल वर्किंग खत्म हो जाने के कारण अब सेवायोजन कार्यालय में भीड़भाड़ दिखाई नहीं पड़ती स्थानीय सेवायोजन कार्यालय परिसर में चकबंदी ऑफिस भी खुला हुआ है… कार्यालय के बाहर ढेर सारी रोजगार से संबंधित निवेदन फार्म की दुकानें हुआ करती थी जो अब वहां पर एक भी दिखाई नहीं पड़ती जिस कारण बहुत से लोगों की रोजी-रोटी भी प्रभावित हुई जो नौकरी के फार्म बेच कर अपना गुजारा कर लिया करते थे