शुभकामनाएं

जिला प्रशासन के निर्देश पर राजीब गांधी सेबा केंद्र से कब्जा हटा।
बरखेड़ा।विकास खंड के ग्राम पंचायत पैनिया रामकिशन में बने राजीव ग़ांधी सेवा केंद्र पर गांव के कुछ लोगो ने घूरा डालकर अबैध रूप से कब्जा कर रखा था।यहाँ पर लोग घूरा डालते थे।और जानवर बांधते थे। ग्राम प्रधान ने कई बार कब्जे हटवाने का प्रयास किया।पर ग्रामीणों ने राजीव गांधी सेवा केंद्र पर से कब्जे नही हटाये। जिसको लेकर जिला प्रशासन ने कब्जे को लेकर बीसलपुर तहसीलदार विजय त्रिवेदी को सख्त दिशा निर्देश दिए। निर्देश मिलने के बाद अबैध कब्जे के मामले को संज्ञान में लेते हुए तत्काल कब्जा हटवाया गया।

जिला प्रशासन के निर्देश पर राजीब गांधी सेबा केंद्र से कब्जा हटा।
बरखेड़ा।विकास खंड के ग्राम पंचायत पैनिया रामकिशन में बने राजीव ग़ांधी सेवा केंद्र पर गांव के कुछ लोगो ने घूरा डालकर अबैध रूप से कब्जा कर रखा था।यहाँ पर लोग घूरा डालते थे।और जानवर बांधते थे। ग्राम प्रधान ने कई बार कब्जे हटवाने का प्रयास किया।पर ग्रामीणों ने राजीव गांधी सेवा केंद्र पर से कब्जे नही हटाये। जिसको लेकर जिला प्रशासन ने कब्जे को लेकर बीसलपुर तहसीलदार विजय त्रिवेदी को सख्त दिशा निर्देश दिए। निर्देश मिलने के बाद अबैध कब्जे के मामले को संज्ञान में लेते हुए तत्काल कब्जा हटवाया गया।

रहस्यमय ढंग से विवाहिता गायब ससुराल पक्ष की मुश्किलें बड़ी।9लोगो के खिलाफ मुकदमा दर्ज।

बरखेड़ा। रहस्यमय ढंग से विवाहिता ससुराल से लापता हो गयी। परिजन ने दहेज की मांग पूरी न होने पर विवाहिता को गायब करने का आरोप लगाया। पुलिस ने तहरीर के अधार पर रिपोर्ट दर्ज की है।
ग्राम भूड़ागौटिया निवासी नंदलाल ने पुलिस को दी तहरीर में बताया। कि उनकी बेटी रेखा की शादी डेढ़ साल पहले ग्राम विकन्नापुर थाना बरखेड़ा निवासी मदनलाल से हुई थी। ससुराल वाले कम दहेज लेन की बात कहकर विवाहिता को प्रताड़ित किया करते थे। एक सितंबर को मायके वालों ने फोन कर बताया कि रेखा कहीं चली गयी है। इस पर परिजन रेखा की ससुराल पहुँच गए। यहां पहुँचने पर ससुरालिजन कहने लगे कि रेखा 31 अगस्त की रात से ही लापता है। परिजन ने दहेज की मांग पूरी न होने पर विवाहिता को गायब करने का आरोप लगाया। हत्या की भी आशंका जताई। बरखेड़ा पुलिस ने तहरीर के आधार पर पति मदनलाल, गंगाराम, ओमकार, तिलकराम, मोरकली, सुनीता, शिवदेई, पार्वती, ओमवती के खिलाफ दहेज प्रताड़ना, विवाहिता को गायब करने, घरेलू हिंसा आदि धाराओं में एफआईआर दर्ज की है। इंस्पेक्टर ब्रज किशोर मिश्र ने बताया कि मामले की जांच कराई जा रही है।

बरखेड़ा।नवादा महेश गांव में जमीनी विवाद को लेकर हुई मारपीट में घायल हुए जमीनी विवाद को लेकर मारपीट में घायल हुए ज्वाला प्रसाद की इलाज के दौरान मौत हो गई। मौत की खबर से घर मे कोहराम मच गया। बात दे कि बलवे की धाराओं में दोनों ओर से रिपोर्ट दर्ज ग्रामसमाज की जमीन के विवाद में नवादा महेश गांव में पाँच सितंबर को दो पक्षो में मारपीट हुई थी।इसमें घायल ज्वाला प्रसाद की बरेली के एक अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई।इस मामले में दोनों ओर से रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।एक पक्ष से सरस्वती देवी की रिपोर्ट लिखाई है।इसी के चलते आरोपी पक्ष घर मे घुस आये और हमला कर दिया।परिजन से भी मारपीट की गई है।इसमें छेदालाल पुत्र बेनीराम,अमित,पुष्पेंद्र, ने भी रंजिशन घर मे घुसकर हमले का आरोप लगाया।उनकी तरफ से छेदालाल पुत्र केवलराम,ज्वालाप्रसाद, सरस्वती, रामबहादुर,सुनीता, मायादेवी,और लज्जो देवी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई।

प्रधानमंत्री किसान मान-धन योजना में इच्छुक व्यक्ति योजना का उठायें लाभ।

प्रधानमंत्री किसान मान-धन योजना में इच्छुक व्यक्ति योजना का उठायें लाभ।
पीलीभीत :शासनादेश दिनांक 14 अगस्त 2019 के द्वारा प्रदेश के लघु एवं सीमान्त कृषकों को सामाजिक सुरक्षा कवच उपलब्ध कराने एवं वृद्धावस्था में उनकी आजीविका के साधन उपलब्ध कराये जाने के उद्देश्य से स्वैच्छिक रूप से पुरूष एवं स्त्री दोनों के लिए 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने पर रू0 3000/- की एक सुनिश्चित मासिक पेंशन योजना के रूप में प्रधानमंत्री किसान मान-धन योजना (पी0एम0केएमवाई) लागू की गयी है। उक्त योजना हेतु निर्देश दिये गये हैं कि यह एक स्वैच्छिक एवं अंशदायी पेंशन स्कीम है और इसमें शामिल होने की आयु 18 से 40 वर्ष तक है। पीएम-केएमवाई एक केन्द्रीय योजना है, जिसका संचलन कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा द्वारा भारतीय जीवन बीम निगम की भागीदारी से किया जायेगा। एल0आई0सी0 पेंशन निधि प्रबंधक होगी और पेंशन का भुगतान करने के लिए जिम्मेदार होगी। यह अपवर्जक मानदण्डों (अपात्रता की श्रेणी) के अधीन प्रदेश के सभी भू धारक लघु एवं सीमान्त कृषकों के लिए स्वैच्छिक और आवधिक योगदान आधारित पेंशन प्रणाली है। लघु एवं सीमान्त किसानों के पास सीधे पीएम किसान से प्राप्त वित्तीय लाभ से स्कीम में अपने स्वैच्छिक योगदान का भुगतान करने की अनुमति देने का विकल्प होगा। पात्र लघु एवं सीमान्त किसान पीएम-केएमवाई के लिए योगदान देने के लिए पीएम किसान लाभ का उपयोग करने के इच्छुक है को अपने बैंक खाते में आटोडेबिट हेतु सहमति देने के लिए नामांकन सह-आटो डेबिट मैण्डेट फार्म पर हस्ताक्षर करने जमा करना होगा। केन्दीय सरकार भी कृषि, सहकारिता और किसान कल्याण विभाग के माध्यम से पात्र अभिदान द्वारा अभिदान की गई धनराशि के बराबर धनराशि का निधि में योगदान करेगी। मासिक अभिदान प्रत्येक माह की उसी तारीख को देय होगा जिस तारीख को पंजीयन किया गया। लाभग्राही अपने अभिदान हेतु तिमाही, चारमाही या छमाई विकल्प चुन सकता है। निहित तिथि से पहले ग्राहक की मृत्यु की स्थिति में ग्राहक के जीवन साथी के पास योजना के तहत शेष योगदान के भुगतान के द्वारा योजना को जारी रखने का विकल्प होगा। निहित तिथि से पहले ग्राहक की मृत्यु के मामले में यदि जीवन साथ योजना के तहत जारी रखने का विकल्प का उपयोग नही करते है तो अर्जित ब्याज राशि या बचत बैंक ब्याज के साथ जो भी अधिक है, योजना के तहत देय होगा। निहित तिथि से पहले की मृत्यु के मामले में बगर कोई पति या पत्नी नही है तो ग्राहकों को योगदान अर्जित ब्याज राशि या बचत बैंक ब्याज के साथ ग्राहकों का योगदान जो अधिक है योजना के तहत नामित को देय होगा। ग्राहक द्वारा नियमित अंशदानों के भुगतान की प्रक्रिया भारत सरकार द्वारा निर्गत दिशा निर्देशों के अनुसार होगी। किसी भी परिस्थिति में पेंशन को स्थानान्तरण नही किया जायेगा। कृषक योजना से सम्बन्धित जानकारी के लिए न्याय पंचायत स्तर पर कार्यरत प्राविधिक सहायकों से कर सकते हैं।

अपर जिलाधिकारी अतुल सिंह की अध्यक्षता में जिला निरीक्षण समिति द्वारा खुला आश्रय गृह(बालक) पीलीभीत का निरीक्षण किया गया।

पीलीभीत : 02 अगस्त 2019/आज दिनांक 02.08.2019 को अपर जिलाधिकारी अतुल सिंह की अध्यक्षता में जिला निरीक्षण समिति द्वारा खुला आश्रय गृह(बालक) पीलीभीत का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान संस्था में संचालित समस्त व्यवस्थाओं का गहनता से निरीक्षण किया गया।
उक्त निरीक्षण के समय जिला निरीक्षण समिति के समस्त सदस्य उपस्थित रहे। निरीक्षण के दौरान अपर जिलाधिकारी अतुल सिंह, योगेन्द्र मलिक क्षेत्राधिकारी सदर, स्वास्थ्य विभाग से डा0 आ0के0सक्सेना, किशोर न्याय बोर्ड सदस्य, बाल कल्याण समिति के सदस्य डा0 दीनबन्धु शुक्ला, स्वयंसेवी संस्था दिव्य आर्ट एवं प्रशिक्षण संस्था पीलीभीत की संचालिका सुश्री अंजुरानी एवं जिला प्रोबेशन अधिकारी श्री संजय कुमार निगम व जिला बाल संरक्षण संस्था पीलीभीत के संरक्षण अधिकारी व सामाजिक कार्यकर्ता इत्यादि उपस्थित रहे।

जिलाधिकारी ने जनपद में संचालित योजना की समीक्षा और अधिक से अधिक पात्रों को दिया जाये योजनाओं का लाभ।



पीलीभीत सूचना विभाग 02 अगस्त 2019/ जिलाधिकारी श्री वैभव श्रीवास्तव की अध्यक्षता में समस्त विकास कार्यों की समीक्षा बैठक गांधी सभागार पीलीभीत में सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी महोदय द्वारा स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की समीक्षा के दौरान पूर्व में दिये गये निर्देशानुसार एम्बुलेंस 108 व 102 को थानों के सापेक्ष लगाये जाने व अस्पतालों तक सुगमता से पहुंचाने हेतु बोर्ड लगवाने के सम्बन्ध में कार्यवाही न होने के कारण स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के निर्देश दिये और साथ ही साथ एम्बुलेंस 108 व 102 की गाड़ियों में समस्त सुविधाऐं मानक के अनुरूप उपलब्ध होने से सम्बन्धित प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने के निर्देश दिये।
महोदय द्वारा दियोरिया कलां में निर्माणाधीन सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की द्वितीय किस्त के सम्बन्ध में लापरवाही के कारण स्वास्थ्य विभाग के जेई का एक दिन का वेतन रोकने व निर्माणाधीन संस्था पर 5 प्रतिशत की कटौती करने के निर्देश दिये। बैठक में महोदय द्वारा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र ललौरीखेडा में अधिक क्षमता का विद्युत मीटर लगाने के सम्बन्ध में अधिशासी अभियन्ता विद्युत को दो दिन के अन्दर लगाकर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। महोदय द्वारा स्वच्छ भारत मिशन की समीक्षा के दौरान जियो टैगिंग की प्रगति धीमी होने के कारण जिला पंचायत राज अधिकारी को कड़े निर्देश देते हुये 05 दिन में स्थिति सुधारने के निर्देश दिये और इसके साथ ही साथ एडीओ पंचायत अमरिया का 05 दिन का वेतन काटने एवं खण्ड विकास अधिकारी अमरिया का 02 दिन का वेतन काटने के निर्देश दिये गये।
जिलाधिकारी महोदय द्वारा विभिन्न पेंशन योजनाओं की समीक्षा के दौरान विकलांग पेंशन के सत्यापन हेतु मेडिकल टीम बनाकर कराये जाने के निर्देश दिये। पेयजल योजनाओं की समीक्षा के दौरान ग्रामों में हैण्ड पम्पों के रिबोर के सम्बन्ध में महोदय द्वारा आदेश जारी करने के निर्देश देते हुये कहा कि रिबोर किये गये हैण्ड पम्प एक वर्ष के अन्दर खराब होते है तो इसकी पूर्ण जिम्मेदारी ग्राम प्रधान व सचिव की होगी और इस सम्बन्ध कड़ी कार्यवाही की जायेगी। बाल विकास विभाग द्वारा इस वित्तीय वर्ष निर्माणाधीन 133 आंगनबाडी केन्द्रों के सम्बन्ध में निर्देश देते हुये कहा कि तत्काल कार्य पूर्ण कराया जाये और जिन ग्राम पंचायतों में अभी तक कार्य प्रारम्भ नही कराया गया है तो उस सम्बन्ध में कारण स्पष्ट करने के निर्देश दिये। इसके साथ ही साथ जिलाधिकारी महोदय द्वारा छात्रवृत्ति योजना, महिला हेल्पलाइन, स्वयं सहायता समूह, प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना की समीक्षा की गई, इस दौरान सभी अधिकारियों को समयबद्वता के साथ गुणवत्ता परक ढं़ग से कार्य करने के निर्देश दिये और कार्यों के प्रति किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी श्री रमेश चन्द्र पाण्डेय, परियोजना निदेशक श्री अनिल कुमार, जिला विकास अधिकारी श्री योगेन्द्र पाठक, डीसी मनरेगा श्री मृणाल सिंह, जिला अर्थ एवं सांख्यकी अधिकारी श्री नरेन्द्र यादव, अधिशासी अभियन्ता विद्यतु अधिशासी अधिकारी लोक निर्माण विभाग, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका श्री निशा मिश्रा सहित जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

जनपद के समस्त मदरसा प्रबन्धकों को निम्न निर्देश दिये गये हैं, कि मदरसे मेें साफ-सफाई एवं पेयजल व्यवस्था का पूरा ध्यान रखा जाये,


पीलीभीत :02 अगस्त 2019/ जिलाधिकारी के निर्देशों के क्रम में जनपद के समस्त मदरसा प्रबन्धकों को निम्न निर्देश दिये गये हैं, कि मदरसे मेें साफ-सफाई एवं पेयजल व्यवस्था का पूरा ध्यान रखा जाये, छात्र/छात्राओं को एकसी ड्रेस पहनने हेतु प्रोत्साहित किया जाये। मदरसे में दीनी तालीम के साथ-साथ दुनियावी तालीम देने पर भी विशेष ध्यान दिया जाये, मदरसे अपने संसाधनों से कम्प्यूटर की व्यवस्था करके कम्प्यूटर शिक्षा को बढ़ावा दें। मदरसे में कक्षों का चिन्हांकन उर्दू के साथ साथ हिन्दी अथवा अंग्रेजी में भी किया जाये। मदरसे में उसके नाम का बोर्ड उर्दू के साथ-साथ हिन्दी अथवा अंग्रेजी को स्पष्ट अक्षरों में पूर्ण रूप से लिखा जाये। मदरसे आधुनिक विषय हेतु पाठ्य पुस्तकों के रूप में एन0सी0आई0आर0टी0 की पुस्तकों का प्रयोग करें। मदरसे राष्ट्रीय पर्वों को बडे़ हर्षोल्लास से मनाये। आलिया/उच्च आलिया स्तर के मदरसे छात्र/छात्राओं को कौशल विकास को बढ़ावा देने हेतु प्रोत्साहित करें। मदरसे रजिस्ट्रार, उ0प्र0 मदरसा शिक्षा परिषद लखनऊ के तातिलनामा के अनुसार ही समय से खोले जायेगें तथा समय से ही बन्द किये जायेगें। मदरसों में प्रातः प्रार्थना के समय राष्ट्रीयगान अनिवार्य रूप से पढ़ा जाये। उक्त निर्देशो का अनुपालन कड़ाई से किया जाये। अधिक जानकारी के जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी पीलीभीत से सम्पर्क करें।

दिव्यांग छात्र/छात्राओं को दिव्यांग छात्रवृत्तिप्री0 मैट्रिक के आवेदन पत्र दिनांक 15.010.2019 एवं पोस्ट मैट्रिक टाॅप क्लासेज छात्रवृत्ति हेतु दिनांक 31.10.2019 तक


पीलीभीत – 02 अगस्त 2019/राष्ट्रीय छात्रवृत्ति योजना शैक्षिणक सत्र 2019-20 हेतु जनपद के अध्ययनरत समस्त दिव्यांग छात्र/छात्राओं को दिव्यांग छात्रवृत्ति दिये जाने के लिए आॅनलाइन आवेदन पत्र आमंत्रित किये जाने के निर्देश दिये गये है। प्री0 मैट्रिक के आवेदन पत्र दिनांक 15.010.2019 एवं पोस्ट मैट्रिक टाॅप क्लासेज छात्रवृत्ति हेतु दिनांक 31.10.2019 तक वेबसाइट ूूूण्ेबीवसंतेीपचण्हवअण्पद पर आवेदन भर सकते हैं। इस योजना में कोई भी पात्र दिव्यांग छात्र छात्रवृत्ति से वंचित न रह जाये। उक्त योजना के अन्तर्गत अधिक से अधिक दिव्यांग छात्र/छात्राओं को लाभान्वित किया जाये।

एस. पी. द्वारा बालिकाओं को दिए गए सुरक्षा के टिप्स :

पीलीभीत।
पुलिस अधीक्षक, मनोज कुमार सोनकर द्वारा राम लुभाई साहनी राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय पीलीभीत में “बालिका सुरक्षा जागरूकता पखबाड़ा” कार्यक्रम में पहुंचकर छात्राओं को अपनी सुरक्षा करने हेतु जागरुक किया गया। पुलिस अधीक्षक द्वारा बालिकाओं को हेल्पलाइन नंबरों 1090, 181, 100 की जानकारी दी गई तथा असुरक्षित महसूस होने पर तत्काल हेल्पलाइन नंबरो पर सूचना देने, इमरजेंसी सहायता के लिए 100 नंबर डायल करने की सलाह दी। इस दौरान प्रभारी निरीक्षक थाना कोतवाली भी मौजूद रहे।

मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक सम्पन्न:

पीलीभीत: मुख्य विकास अधिकारी, रमेश चन्द्र पाण्डेय की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक गांधी सभागार पीलीभीत में सम्पन्न हुई। समीक्षा बैठक में अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 सी0एम0चतुर्वेदी द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद के जिला अस्पताल में स्थित पोषण पुर्नवास केन्द्र (एन0आर0सी0) को कुपोषित बच्चों को मानकों के अनुरूप से अधिक अच्छी सेवाऐं प्रदान करने और उचित देखभाल व अच्छी व्यवस्थाओं को देखते हुये प्रदेश में जनपद को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है और इस सम्बन्ध में एन0आर0सी0 की प्रभारी डा0 नीता सक्सेना को प्रशस्त पत्र देकर सम्मानित किया गया। मुख्य विकास अधिकारी द्वारा इस उपलब्धि पर एन0आर0सी0 के समस्त कर्मचारियों व सहयोग के लिए समस्त एम0ओ0आई0सी0 को बधाई देते हुये कहा कि आगे और अच्छा कार्य कर जनपद का नाम अन्य योजनाओं में भी अग्रणी बनायें। इसके साथ ही साथ आज एक अन्य कार्य में भी जनपद को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ, जिसमें बाल विकास द्वारा संचालित योजनाओं के लाभार्थियों का आधार सीडिंग में प्रथम स्थान प्राप्त किया है।
मुख्य विकास अधिकारी द्वारा बैठक की समीक्षा के दौरान नियमित टीकाकरण की समीक्षा करते हुये टीकाकरण शत प्रतिशत कराने के निर्देश दिये, महोदय द्वारा आशा बहुओं के भुगतान में बिलसण्डा द्वारा मात्र 60 प्रतिशत किये जाने पर द्वारा कडे़ निर्देश देते हुये शत-प्रतिशत भुगतान कराने के निर्देश दिये और विद्यालय में वितरित की जाने वाली आयरन गोलियों के सम्बन्ध में ऐनम के माध्यम से विद्यालय में बच्चों को प्रथम बार आयरन की गोलियां दी जाये। बैठक में सभी अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि आपके विभाग द्वारा संचालित योजनाऐं जैसे मातृत्व योजना, जननी सुरक्षा योजना, परिवार नियोजन जैसी कई योजनाओं के प्रचार प्रसार हेतु ग्राम स्तर व खण्ड स्तर पर ग्राम प्रधानों की आयोजित बैठकों में अवश्य रूप से योजनाओं के बारे में लोगों को जागरूक किया जाये। परिवार कल्याण एवं परिवार नियोजन के सम्बन्ध वास्केट आॅफ च्वॅाइस के आधार पर परिवार नियोजन को बढ़ावा देने हेतु प्रचार प्रसार कराने के निर्देश दिये। वास्केट आॅफ च्वाॅइस के अन्तर्गत परिवार नियोजन के इच्छुक व्यक्तियों द्वारा नसबन्दी, अन्तरा इंजेक्शन जैसे उपायों को चुन सकते हैं।
बैठक में अपर जिलाधिकारी, न्यायिक, श्री देवेन्द्र प्रताप मिश्र, अपर मुख्य चिकित्साअधिकारी,डा0सी0एम0चतुर्वेदी, जिला बेसिक शिक्षा देवेन्द्र स्वरूप, जिला विद्यालय निरीक्षक संत प्रकाश, सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

जनपद में धूमधाम से मनाया जायेगा स्वतंत्रता दिवस:

पीलीभीत- मुख्य विकास अधिकारी, रमेश चन्द्र पाण्डेय की अध्यक्षता में गतवर्षो की भांति इस वर्ष भी 73 वां स्वतंत्रता दिवस समारोह (15 अगस्त 2019) के कार्यक्रमों की रूपरेखा से सम्बन्धित तैयारियों की बैठक गांधी सभागार पीलीभीत में सम्पन्न हुई है।

बैठक में द्वारा कार्यक्रम निर्धारण पूर्व की वर्षों की भांति निर्धारित करते हुये कहा कि इस वर्ष भी स्वतंत्रता दिवस बडी धूमधाम के मनाया जायेगा। जिसमें जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक व अन्य जिला स्तरीय अधिकारी स्वतंत्रता दिवस पर होने वाले कार्यक्रमों में भाग लेगें और 15 अगस्त के दिन सभी सरकारी भवनों, शिक्षण संस्थाओं में प्रातः 8ः00 बजे ध्वजारोहण किया जायेगा और इसी दिन प्रातः 7 बजे से 8 बजे के मध्य विभिन्न विद्यालयों में जिला विद्यालय निरीक्षक व जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के निर्देशन में प्रभात फेरियों का आयोजन किया जायेगा और साथ ही साथ विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा।

प्रातः 9ः00 बजे स्वतंत्रता सेनानियों का अभिनन्दन जनपद की समस्त तहसीलों में किया जायेगा एवं अपर जिलाधिकारी (न्यायिक) द्वारा श्रद्धा सुमन दामोदर पार्क स्थित गैस चैराहे पर अर्पित किये जायेगे। फल वितरण का कार्यक्रम प्रातः 10ः30 बजे मुख्य चिकित्साधिकारी के निर्देशन में जिला संयुक्त चिकित्सालय पुरूष/महिला में किया जायेगा। जिसके मुख्य अतिथि अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 द्वारा किया जायेगा।

जनपद में रूटमार्च सांय 4ः00 बजे वाटर वक्स से कोतवाली, नावल्टी चैराहा होते हुये गांधी स्टेडियम में सम्पन्न होगी, जिसमें विभिन्न विभागों द्वारा अपनी अपनी झांकियां का आयोजन किया जायेगा। सांस्कृकित कार्यक्रमों का आयोजन पूर्व की भांति गांधी स्टेडियम प्रेक्षागृह में आयोजित किये जायेगें, कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिलाधिकारी होगें।

आपने ने कहा कि समस्त कार्यक्रम पूर्व की भांति आयोजित किये जायेगा।
बैठक का संचालन अपर जिलाधिकारी, अतुल सिंह, ने किया।
इस अवसर पर नगर मजिस्ट्रेट, ऋतु पूनिया, एस. डी. एम. सदर, वंदना त्रिवेदी, जिला विद्यालय निरीक्षक, संतप्रकाश, जिला विद्यालय निरीक्षक देवेन्द्र स्व, तहसीलदार,बीसलपुर, विजय त्रिवेदी, सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारीगण, पत्रकार मंसूर अहमद शम्सी, नसीम खां, रफीक अन्वर व गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।